!
www.cdot.in
Google इंगलिश
साइटमैप






























  सी डाट में मानव संसाधन s
कार्य़ संस्कृति और माहौल
कर्मचारी विकास
जनशक्ति
जॉब
:: होम :: सी डाट में मानव संसाधन :: कार्य़ संस्कृति और माहौल   
कार्य़ संस्कृति और माहौल
सी-डॉट की स्थापना भारतीय परिवेश में उच्च उत्पादकता, दक्षता और बेहतर जीवनशैली के लिए जनप्रबंधन के मॉडल के रूप में की गई। सी-डॉट में लगभग 1000 इंजीनियर कार्यरत हैं। मानव संसाधन विकास ने इसकी स्थापना से ही एक बेहतर तादात्म्य स्थापित करने के लिए एक उत्प्रेरक का काम किया है ताकि अलग-अलग प्रतिभाओं और सीमा के कर्मचारी सर्वोत्तम परिणाम के लिए एक-दूसरे के पूरक बन सकें। सी-डॉट में मानव संसाधन का उद्देश्य लोगों और व्यावसायिकता के प्रति वचनबद्धता पर आधारित उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए अनुकूल माहौल और संस्कृति का निर्माण करना रहा है।

सी-डॉट में माहौल सभी के प्रति सम्मान और अपनेपन की भावना विकसित करने का है। सी-डॉट में कर्मचरियों और उनके परिवार के सदस्यों के कल्याण पर जोर दिया जाता है। कैंटीन,वाहन, और कार्यलय अवसंरचना जैसी सुविधाएं चौबीसों घंटे उपलब्ध रहती हैं।

मानव संसाधन प्रबंधन में कर्मचारियों के विकास और सीखने के माहौल के माध्यम से उनकी प्रतिभा में निखार लाने को अत्यंत महत्व दिया जाता है। सी-डॉट के कार्यकलाप और कार्यपद्धति को इस तरह से विकसित किया गया है कि सभी सदस्यों में गौरव तथा संतोष की भावना विकसित हो, सर्वश्रेष्ठ योगदान देने की इच्छा हो, व्यक्तिगत प्रभाव बढ़ाने, कार्य की गुणवत्ता में सुधार लाने तथा कैरियर विकास के साथ -साथ कर्मचारियों को बेहतर व्यक्ति बनाने के लिए तैयारी करना शामिल है।

सी-डॉट में मानव संसाधान की विभिन्न नीतियां और प्रक्रियाएं विश्वास, देखभाल और सशक्तिकरण के सिद्धांतों पर आधारित है। कर्मचारियों में अत्याधिक विश्वास, प्रचालन, कार्य घंटों में लचीलेपन तथा स्वघोषणा पर विभिन्न व्ययों की प्रतिपूर्ति जैसी सुविधाओं से परिलक्षित होता है।

सी-डॉट का कर्मचारी सशक्तिकरण का सिद्धांत विभिन्न योजनाओं, समीक्षा और निगरानी समितियों में कर्मचारी को शामिल करने खुली तथा पारदर्शी प्रणाली द्वारा परिलक्षित होता है, जहां अधिकांश निर्णय (अर्थात पदोन्नति पुरस्कार) आदि अलग-अलग टीमों द्वारा दिये जाते हैं। वित्तीय तथा प्रशासनिक अधिकारों को प्रचालन स्तर पर प्रत्यायोजित किया गया है।

सी-डॉट का संगठन समतावादी सिद्धांतों पर आधारित है जो व्यावसायिकता, खुलेपन, कर्मचारी के लिए सम्मान, रचनात्मकता, नवीनता, प्रतिस्पर्द्धा और चुनौती को बढ़ावा देता है तथा जनअभिमुखीकरण और आत्मविकास को महत्व देता है। विभिन्न प्रणालियां, नीतियां तथा व्यवसाय योजनाएं, उत्पाद योजनाएं पूरी तरह निर्धारित हैं तथा लैन के जरिये इन तक सबकी पहुँच है।
    कर्मचारी विकास >>